Process


एक केन्द्रित सामूहिक प्रणाली


गोद लेने की प्रक्रिया शुरू होती है इस आत्मविश्लेषण से कि हम किसी बच्चे को गोद क्यों ले रहे हैं? हम किस प्रकार के बच्चे को पाल सकते हैं और हमें किस तैयारी की आवश्यकता है. एक प्रमाणित सलाहकार हमें इन सवालों के जवाब देने में हमारी सहायता कर सकता है.

जब आप एक बच्चे को गोद लेने के लिए तैयार महसूस करते हैं तो सबसे पहले आपको CARA की वेबसाइट पर ऑनलाइन रजिस्टर करना होता है. रजिस्टर करते समय सभी सही दस्तावेजों को लगाना न भूलें और अपने विकल्पों को ध्यान से भरे– जैसे कि लड़का या लड़की, बच्चे की उम्र, राज्य, सामान्य अथवा विशिष्ट श्रेणी इत्यादि. याद रहे कि आपकी वरिष्ठता रजिस्ट्रेशन की तारीख से तय होती है और आपको कितनी प्रतीक्षा करनी पड़ती है यह इससे तय होता है की आप के ही जैसे विकल्प वाले कितने माता पिता प्रतीक्षा सूची में आपसे वरिष्ठ हैं. उदहारण के लिए एक ही दिन में रजिस्टर करे हुए दो दम्न्पतियों की वरिष्ठता लगभग बराबर होगी, किन्तु वह दम्पति जिसने दिल्ली से 2 वर्ष से छोटे बच्चे का विकल्प रजिस्टर किया है, उनकी प्रतीक्षा एक दुसरे दम्पति से कहीं ज्यादा होगी जिन्होंने महाराष्ट्र से एक 4 वर्ष के बच्चे का विकल्प रजिस्टर किया है. क्योंकि, दिल्ली में छोटे बच्चे न के बराबर हैं और महाराष्ट्र में 4 वर्ष की उम्र का कई बच्चे हो सकते हैं.

CARA में रजिस्टर होने के बाद एडॉप्शन एजेंसी आपका गृह अध्ययन करती है और आपकी योग्यता परखती है. उनकी रिपोर्ट अधिकृत होने पर ही माता पिता बच्चे की सूचना मिलने के अधिकारी होते हैं और उनकी वरिष्ठता कायम होती है.बच्चा उपलब्ध होने पर प्रतीक्षा सूची में सबसे वरिष्ठ माता पिता को उनके विकल्पों के आधार पर उसकी सूचना दी जाती है. 48 घंटो के अन्दर उन्हें बच्चा अरक्षित करना होता है, और उसके 20 दिनों के अन्दर सभी कार्यवाही पूरी करके बच्चे को घर लाना होता है. बच्चे को अरक्षित करने के बाद यदि माता पिता उसे नहीं स्वीकार करते तो उनको प्रतीक्षा सूची में सबसे नीचे डाल दिया जाता है. यदि वे बच्चे आरक्षित ही नहीं करते, तो उनके अधिकतम 2 और बच्चों की सूचना दी जा सकती है. एक बार में केवल एक ही बच्चे की सूचना दी जाती है. बच्चों का कोई चयन मंज़ूर नहीं किया जाता और किसी भी अस्वीकृति होने की सूरत में माता पिता CARA से संपर्क साध कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

इस सारे प्रकरण में 3 बातों का विशेष ध्यान रखें:





भारत में एडॉप्शन CARA द्वारा नियोजित हैं. CARA महिला एवं बाल विकास मंत्रालय. (भारत सरकार) का एक स्वायत्त विभाग है. गोद लेने के इच्छुक हर माता पिता को CARA के साथ रजिस्टर करना होता है. CARA के नियमों की जानकारी अत्यंत आवश्यक है. विस्तार से जानने के लिये CARA के मुख्य प्रावधान , एक नजर और पूर्ण प्रावधान को पढ़ें.




Timeline Appointment

आपकी वरिष्ठता आपके रजिस्टर करने की तारीख से तय होती है. अतः जैसे ही आप गोद लेने के लिए निश्चित हों, रजिस्टर करने में विलम्ब न करें क्योंकि प्रतिदिन करीबी 100 अभिभावक रजिस्टर होते हैं, और आपको बिना वजह अपनी वरिष्ठता खोनी नहीं चाहिए.

आपका प्रतीक्षा काल केवल आपके विकल्पों पर आधारित है. इसके लिए बहुत ही सोच समझ कर, प्रमाणित सलाहकारों से मशविरा ले कर, तथ्यों के आधार पर ही अपने विकल्प तय करें.2 वर्ष की बड़ी उम्र के बच्चो को गोद लेने के लिए विकल्प खुला रखें. इसमें प्रतीक्षा भी बहुत कम है और बच्चे का स्वास्थय भी स्थिर रहता है.

जब आपको बच्चे की सूचना मिले तो बच्चे का “चयन” करने की मानसिकता से बचे, बच्चे को अकारण ही अस्वीकार ने करें और 3 बच्चों की सूचना मिलने की प्रतीक्षा न करें. यदि मुमकिन हो तो इमिजियेट प्लेसमेंट (तत्काल) व विशिष्ट ज़रुरत वाली श्रेणी में भी नज़र घुमाते रहें. कौन जाने आप के दिल की धड़कन किस कोने से जवाब पाए!